-->
Natural Natural

ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (DCGI) ने ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा जारी वैक्सीन टीकाकरण के लिए जारी भर्ती को सिरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) को रोकने का आदेश दिया



  • ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया देश की सबसे बड़ी दवा नियामक संस्था के रूप में कार्य करती है। यह भर्ती प्रक्रिया ऑक्सफर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा कोविड-19 वैक्सीन के टीकाकरण के परीक्षण के लिए दूसरे और तीसरे चरण के नैदानिक परीक्षण के लिए इसे अगले आदेश तक टाल दिया गया है। 

DCGI द्वारा सिरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया को वैक्सीन ट्रायल की भर्ती रोकने के आदेश देने की वजह:
  • एस्ट्राज़ेनेका कोरोना वैक्सीन निर्माण करने वाली कंपनी है, वैक्सीन के ट्रायल के लिए ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी और इस कंपनी ने एक दूसरे के साथ काम करने का निर्णय लिया है। 
  • इन परीक्षणों में हिस्सा लेने वाले ब्रिटेन की एक स्वयंसेवक ने अनजान बीमारी का अनुभव किया है इस खतरे को देखते हुए इस भर्ती प्रक्रिया को रोकने का आदेश दिया गया है।
  • एस्ट्राज़ेनेका कंपनी के सभी संचालन परीक्षण को रोक दिया गया और इस कंपनी को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। कंपनी ने अपने क्या परीक्षणों को मुख्य रूप से 4 देशों में शुरू किया था, जिनमें यूनाइटेड किंगडम, संयुक्त राज्य अमेरिका,ब्राजील और साउथ अफ्रीका जैसे देश शामिल है। 
  • कंपनी के सभी परीक्षणों को तब तक रोक दिया जाएगा जब तक कंपनी अपने दक्षिण के इस साइड इफेक्ट के बारे में पता नहीं लगा पाती, इस बीमारी का स्पष्टीकरण नहीं दे पाती। 

DCGI के आदेश के बारे में सामान्य जानकारी:
  • यह आदेश सिरम इंस्टीट्यूट आफ इंडिया को अगले आदेश तक कोविड-19 के दूसरे और तीसरे चरण के ट्रायल के लिए रोक दिया गया है। यह आदेश न्यू ड्रग्स एंड क्लिनिकल ट्रायल रुलस 2019 के नियम 30 के द्वारा दिया गया है। 
  • इस आदेश में उन स्वयंसेवकों की निगरानी और सुरक्षा बढ़ाने को कहा गया है,जो पहले से ही कोविड-19 वैक्सीन ट्रायल में टीकाकरण ले चुके हैं। 
  • इन स्वयं सेवकों की बारे में रिपोर्ट की जानकारी सिरम इंस्टीट्यूट आफ इंडिया से मंगवाई गई है। अगली बार वैक्सीन ट्रायल की भर्ती आयोजित करने से पहले सिरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया को DSMB इंडिया और DSMB UK से मंजूरी लेना आवश्यक होगा।
  • DCGI के बारे में सामान्य जानकारी:
  • वर्तमान में बिजी सोमानी ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया के रूप में कार्य संभाल रहे हैं। यह संस्था भारत सरकार की सेंट्रल ड्रग्स स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गेनाइजेशन की मुख्य विभाग के रूप में कार्य करता है। 
  • सेवा संस्थान के तौर पर ब्लड प्रोडक्ट, तरल पदार्थ,दवा तथा टीके जैसी श्रेणियों में लाइसेंस की मंजूरी देने का महत्वपूर्ण कार्य करती है। यह संस्था भारत सरकार के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के अंतर्गत कार्य करता है। 
  • यह संस्था दवाओं के निर्माण, आयात, निर्यात तथा वितरण के लिए मानक निश्चित करती है। देश में दवा नई दवाओं की मंजूरी दे देना तथा देश में विभिन्न प्रकार के सौंदर्य प्रसाधनों की गुणवत्ता को तय करना भी इसी संस्था के अंतर्गत आता है।






Telegram Group Link: Click Here


Post a Comment

Subscribe Website