-->
Natural Natural

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया द्वारा कोविड-19 संकट के वजह से प्राथमिक क्षेत्र ऋण के दिशानिर्देशों की समीक्षा की


  • इन दिशानिर्देशों में कई और नए श्रेणी के लिए दिशा निर्देश शामिल किए गए जिनमें स्टार्टअप के लिए 50 करोड़ तक की वित्तीय सहाय, कृषि पंपों के सोलरइजेसन के लिए, बायोगैस संयंत्र की स्थापना के लिए, किसानों को सौर ऊर्जा संयंत्र की स्थापना के लिए दिशा निर्देशों की समीक्षा की गई।  


प्राथमिक क्षेत्र ऋण के दिशानिर्देशों के बारे सामान्य जानकारी
  • इस दिशा निर्देश में खासतौर पर उन जिलों को शामिल किया गया है जिनमें प्राथमिक क्षेत्र ऋण प्रवाह कम हो और आवश्यकता हो। कमजोर वर्ग तथा सीमांत और छोटे किसानों के लिए ऋण की सीमा को चरणबद्ध तरीके से पढ़ाने के लिए दिशानिर्देश जारी किए गए हैं। 
  • किसान उत्पादक संगठन और किसान उत्पादक कंपनियों को उच्च ऋण सीमा को पहले से निर्धारित किए गए मूल्य पर किसान अपनी उपज का सुनिश्चित विपणन के साथ खेती करने के जैसे विषय को भी शामिल किया गया है। 
  • स्वास्थ्य संरचना मे और स्वास्थ्य संरचना में सुधार करने के लिए ऋण की सीमा को बढ़ाकर डबल कर दिया गया है। जिसमें आयुष्मान भारत समेत कई स्वास्थ्य स्कीमों को शामिल किया गया है। नवीनीकरण ऊर्जा के लिए भी ऋण की सीमा को लगभग डबल कर दिया गया है।


रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के बारे में सामान्य जानकारी
स्थापना - 1 अप्रैल, 1935 में
हेड क्वार्टर - मुंबई, महाराष्ट्र 
कार्य - वित्तीय संचालन करना, देश की तमाम बैंकों को रेगुलेट करना
गवर्नर - शक्तिकान्त दास 
उप गवर्नर - 4( महेश कुमार जैन, विभु प्रसाद कानूनगो, माइकल देवव्रत पात्रा, एक के नाम का ऐलान अभी बाकी है) 
रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के बोर्ड के सदस्य - गवर्नर, 4 उप गवर्नर, दो वित्त मंत्रालय के प्रतिनिधि समेत भारत सरकार के अन्य क्षेत्रों के 10 प्रतिनिधि








Post a Comment

Subscribe Website