-->
Natural Natural

सऊदी अरेबिया ने G 20 ग्रुप के विदेश मंत्रियों की बैठक की मेजबानी की


  • इस बैठक की मेजबानी साउदी अरब के रियाद में आयोजित की गई थी, 2020 के अंत तक G20 लीडर्स के लिए शेरपा ट्रैक के हिस्से के रूप में आयोजित की जाएगी।  
  • इस मीटिंग का मुख्य उद्देश्य कोविड-19 महामारी तथा अंतरराष्ट्रीय सीमा पर सहयोग पर ध्यान केंद्रित करना है। 
  • सऊदी अरब के रियाद में यह मीटिंग वर्चुयल थी, इस बैठक की अध्यक्षता सऊदी अरेबिया के विदेशी मंत्री के रूप कार्यरत बिन फरहान अल सुउद ने की थी। भारत की ओर से इस सम्मेलन में भारत के विदेश मंत्री सुब्रमण्यम जयशंकर ने हिस्सा लिया। 


G20 सम्मेलन में भारत द्वारा दिए गए मुख्य प्रस्ताव के बारे जानकारी
  • भारत ने इस सम्मेलन के दौरान मुख्य तीन बातों पर ध्यान केंद्रित करने का प्रस्ताव दिया। अंतरराष्ट्रीय सीमा पर आंदोलन और पारागमन प्रोटोकॉल का मानवीकरण, परीक्षण प्रक्रिया तथा परीक्षण परिणाम की स्वीकार्यता का मानवीकरण और संगरोध प्रक्रियाओं का मानवीकरण का प्रस्ताव दिया गया।  
  • भारत में अभ्यास कर रहे विदेशी छात्रों को रक्षा तथा कोविड-19 के वजह से नाविक को  तथा उनके नागरिकों को उनके देश भेजने के लिए व्यवस्था करने का प्रस्ताव भी दिया। 
  • भारत सरकार ने वंदे भारत अभियान के तहत विदेशों में फंसे भारतीय नागरिक तथा भारत में फंसे विदेशी नागरिकों के यात्रा की पर्याप्त व्यवस्था करके उनके कल्याण के बारे में सोचा है। 


G20 के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी:
स्थापना - 1999 में
सदस्य - 19 देश (भारत, चीन, अर्जेंटीना,ऑस्ट्रेलिया, ब्राज़ील, जर्मनी, फ्रांस, कनाडा, इटली, इंडोनेशिया, दक्षिण  कोरिया, सऊदी अरब,  जापान, रूस, दक्षिण अफ्रीका, तुर्की, यूनाइटेड स्टेट्स ऑफ अमेरिका, मेक्सिको, यूनाइटेड किंगडम) और यूरोपीय यूनियन     
2020 के अध्यक्ष - किंग सलमान बिन अब्दुलअज़ीज़ अल सऊद
2020 की मेजबानी - सऊदी अरब
G20 सम्मेलन की थीम - सभी अध्यक्षों के लिए 21वीं सदी के लिए साकार अवसर










Post a Comment

Subscribe Website