-->
Natural Natural

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार राज्य में तीन पेट्रोलियम परियोजनाओं के उद्घाटन के लिए 900 करोड रुपए की मंजूरी दी

 


  • भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बिहार राज्य में 3 पेट्रोलियम परियोजनाओं को मंजूरी देने के लिए वीडियो कॉन्फ्रेसिंग द्वारा मंजूरी दी। इन तीनों पेट्रोलियम परियोजनाओं में लगभग 900 करोड से भी अधिक की धनराशि का उपयोग किया जाएगा जिसे केंद्र सरकार द्वारा मंजूरी दी गई है। 
  • इन तीनों परियोजनाओं में मुख्य रूप से दुर्गापुर बांका खंड में 2000 किलोमीटर लंबी पारादीप- हल्दिया-दुर्गापुर पाइपलाइन परियोजना, डी 2 LPG बॉटलिंग प्लांट स्थापित करने की परियोजना शामिल है। 
  • बिहार के बांका में इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन द्वारा बॉटलिंग LPG प्लांट स्थापित करने की घोषणा की गई वहीं दूसरी तरफ भारत पैट्रोलियम कॉरपोरेशन लिमिटेड द्वारा चंपारण के हरसिद्धि में बॉटलिंग LPG प्लांट लांच करने की घोषणा की। 
  • पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय के निर्देशन के अनुसार यह दोनों सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनियों ने LPG बॉटलिंग स्थापित करने की घोषणा की। 

तीनों मुख्य परियोजनाओं के बारे में सामान्य जानकारी:
  • इन परियोजनाओं को मुख्य तौर पर बरौनी रिफाइनरी का विस्तार करने के लिए मिशन पुरोदय के हिस्से के रूप में शुरू किया गया है जिसकी कुल लागत 14000 करोड बताई जा रही है। 
  • बिहार में विशेष आर्थिक पैकेज के तौर  परियोजनाओं को मंजूरी देने के लिए 10 पेट्रोलियम परियोजनाओं को मंजूरी दी गई, जिसमें से 7 ही परियोजनाओं का उद्घाटन किया गया। 
  • बिहार सरकार ने LPG की खपत को बढ़ाकर केरोसिन की खपत को कम करने का महत्वपूर्ण कार्य करने का प्रयास किया है जिसमें उन्हें काफी हद तक सफलता मिली है। 
  • 2014 के आंकड़ों के हिसाब से बिहार सरकार द्वारा राज्य में केरोसिन की खबर को 88 लाख किलो लिटर घटाकर 2 लाख किलो लीटर कर दिया गया था।  

1. दुर्गापुर बांका खंड परियोजना:
  • दुर्गापुर बांका खंड परियोजना को पारादीप -हल्दिया -दुर्गापुर पाइपलाइन परियोजना के हिस्से के रूप में इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन द्वारा निर्मित किया जाएगा। दुर्गापुर- खंड परियोजना राज्य सरकार के स्वामित्व वाली परियोजना के रूप में विकसित की जाएगी। इस परियोजना के पूर्ण हो जाने पर इसे विश्व की सबसे लंबी पाइप लाइन परियोजनाओं में से एक माना जाएगा।

2. बांका में एलपीजी प्लांट स्थापित करने की परियोजना:
  • इस परियोजना के तहत बिहार राज्य के भागलपुर, बांका, अररिया, किशनगंज, जुमई और कटिहार जैसे जिलों में एक लगभग bb का भारी-भरकम निवेश किया जाएगा। इस LPG बॉटलिंग प्लांट की कूल भंडारण क्षमता 1800 टन प्रतिदिन कुल सिलेंडर बॉटलिंग की क्षमता  40000 प्रति दिन है। 

3. चंपारण में बॉटलिंग प्लांट परियोजना के बारे में सामान्य जानकारी:
  • इस बॉटलिंग प्लांट को 29 एकड़ भूमि में बनाया जाएगा जिस की आधारशिला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा 2018 में रखी गई थी। इस प्लांट की कुल बॉटलिंग क्षमता 120000 प्रति लीटर प्रति वर्ष जितनी होगी, देश के निर्माण के लिए तकरीबन 136.4 करोड रुपए के से निर्माण किया जाएगा। दोनों बॉटलिंग प्लांट को मिलाकर साल भर में 125 मिलियन से भी ज्यादा सिलेंडर को भरने की व्यवस्था की जा सकेगी। 

बिहार सरकार ने सड़क परियोजना का भी उद्घाटन कीया:
  • बिहार सरकार ने अपने राज्य में कनेक्टिविटी को बेहतर बनाने के लिए तथा औद्योगिक प्रगति को रफ्तार देने के लिए सड़क परियोजनाओं के निर्माण कार्य को भी मंजूरी दी है। 
  • जिसके तोहार बिहार सरकार के सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्रालय ने बिहार में राष्ट्रीय राजमार्ग 80 पर 120 किलोमीटर लंबे मुंगेर -भागलपुर-तिरपाल- कहलगांव को कंक्रीट से बनाने के लिए 971 करोड रुपए की मंजूरी दी है। 

सड़क परियोजना के महत्व के बारे में जानकारी:
  • यह सड़क परियोजना राज्य में कनेक्टिविटी को बेहतर बनाएगी तथा औद्योगिक क्रांति में तेजी लाने का कार्य भी करेगी, बिहार के साथ-साथ पश्चिम,बंगाल नेपाल मैं आपूर्ति को पूरा करने के लिए तथा परिवहन के लिए अति उपयोगी साबित होगी।

बिहार राज्य के बारे में सामान्य जानकारी:
राजधानी - पटना
राज्यपाल -फागू चौहान
मुख्यमंत्री - नीतीश कुमार
उपमुख्यमंत्री - सुशील कुमार मोदी
क्षेत्रफल के हिसाब से भारत में स्थान - 12 वा 
आबादी के हिसाब से भारत में स्थान - तीसरा
आधिकारिक भाषा - हिंदी
2011 के आंकड़ों के हिसाब से - सबसे घनी आबादी वाला राज्य 







Telegram Group Link: Click Here


Post a Comment

Subscribe Website