-->
Natural Natural

विमान संशोधन विधेयक 2020 को राज्यसभा की मंजूरी के बाद संसद में पारित किया गया

  • 15 सितंबर 2020 के दिन संसद ने राज्यसभा द्वारा अनुमोदित किए जाने के बाद विमान विधेयक 2020 को पारित किया। 
  • इस विधेयक को लोकसभा में से 17 मार्च 2020 के दिन पारित किया गया था।
  • इस नए विधेयक में विमान विधेयक 1934 के अंदर संशोधन किया गया है और नागरिक उड्डयन मंत्रालय के तहत तीन मौजूदा नियम इकाइयों को शामिल करने की मांग की गई है जिसमें नागरिक उड्डयन मंत्रालय द्वारा नागरिक उड्डयन महानिदेशालय को शामिल किया गया है।

तीन नियामक इकाइयों का नाम:
  1. डायरेक्टरेट जनरल आफ सिविल एवियशन
  2. बैनक्रॉफ्ट एक्सीडेंट इन्वेस्टिगेशन ब्यूरो 
  3. द ब्यूरो ऑफ सिविल एविएशन सिक्योरिटी
  • इस बिल में केंद्र सरकार द्वारा  महानिदेशक  को  हर एक इकाई में  नियुक्त  करने की बात भी बताई गई है। इस विधेयक को पारित करते हुए नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने कहा कि कानून इस तीन इकाइयों को नई परिभाषा देगा।
विमान संशोधन विधेयक 2020 के बारे मे सामान्य जानकारी:
  • राज्यसभा में एयरक्राफ्ट संशोधन बिल पास हुआ अगर विमान में किसी मुसाफिर के साथ कुछ दुर्व्यवहार हुआ तो एक  करोड़ रुपये  जुर्माना होगा।
  • यह बिल नागरिक उड्डयन क्षेत्र को बहुत असरकारक बनाएगा।
  • जुर्माने की महत्तम मर्यादा 10 लाख थी जो अब बढ़ाकर ₹1 करोड की गई है।
  • केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने बताया कि एयरक्राफ्ट सुधारना बिल देश में विमान की कामगिरी की सलामती के स्तर को बढ़ाने में मदद करेगी।
  • यह बिल में विमान के कानून 1934 में सुधार करके बिल की महत्तम रकम को बढाने का प्रयास करने में आया है।
  • हाल ही में बिल कि रकम ₹10 लाख है जो बढ़ाकर अब ₹1 करोड रुपए कर दी गई है।
  • विमान में हथियार और खतरनाक पदार्थ ले जाने में सजा  और कोई भी  तरीके से विमान की सलामती को जोखिम में रखने पर सजा और 10 लाख तक का जुर्माना था  अब नियमों में फेरफार हो गया है एयरक्राफ्ट बिल में सुधार आ कर के जुर्माने की रकम 10 लाख से बढ़ाकर ₹1करोड स्टेटस चेक करो हिंदी रुपए कर दी गई है।




Telegram Group Link: Click Here


Post a Comment

Subscribe Website